पहले दिन ही विवाद में आई स्पेशल ट्रेन ‘सरबत दा भला एक्सप्रेस’, लोको इंस्पेक्टर के साथ हाथापाई



जालंधर. गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में दिल्ली से लोहियां खास तक शुक्रवार को चलाई स्पेशल ट्रेन ‘सरबत दा भला एक्सप्रेस’ को लेकर पहले ही दिन जालंधर स्टेशन पर हंगामा हो गया। बताया जाता है, एनआरएमयू (नॉर्थ रेलवे मैन यूनियन) की तरफ से मांग उठाई गई कि ट्रेन जालंधर से आगे रवाना होनी थी तो ड्राइवर भी जालंधर का ही होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

दरअसल रेलवे मंत्रालय ने नई दिल्ली-लोहियां खास-नई दिल्ली इंटरसिटी एक्सप्रेस का नाम बदलकर ‘सरबत दा भला एक्सप्रेस’ किया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय मंत्री हर्ष वर्धन और हरसिमरत कौर बादल ने शुक्रवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से ‘सरबत दा भल्ला एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखाई। खास तौर पर गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समारोह को ध्यान में रखकर चलाई गई इस ट्रेन के शुक्रवार दोपहर 2.38 बजे सुल्तानपुर लोधी पहुंचने की उम्मीद थी, लेकिन विवाद के बाद इसकी समय सारिणी में भी बदलाव हो सकता है।

बताया जा रहा है कि लुधियाना से ही ट्रेन ड्राइवर को थमा दी गई और जालंधर ट्रेन के पहुंचते ही नार्दन रेलवे मेंस यूनियन के सदस्यों ने इस बात का विरोध शुरू कर दिया। इंजन के अंदर ही विवाद शुरू हो गया, जिसके बाद यूनियन के सदस्यों ने एक लोको इंस्पेक्टर को हाथापाई करते हुए इंजन से उतार लिया। ट्रेन में दिल्ली के विभिन्न गुरद्वारों से 650 श्रद्धालु सवार थे।

यहां से होकर गुजरेगी ‘सरबत दा भला एक्सप्रेस’

यह ट्रेन नई दिल्ली से शकूरबस्ती, बहादुरगढ़, रोहतक, जींद, नरवाना, जाखल, संगरूर, धुरी, लुधियाना, मोगा, जालंधर सिटी, सुलतानपुर लोधी से आगे लोहियां खास तक जाएगी। इस ट्रेन की शुरुआत से दिल्ली और हरियाणा से पंजाब जाने वाले यात्रियों को काफी फायदा होगा। खास बात यह है कि इस ट्रेन का कई स्टेशनों पर ठहराव है और इसके चलते अधिक से अधिक यात्री इसका लाभ ले सकेेंगे। वहीं कम किराया होने के चलते भी यात्री इस ट्रेन को पहल देंगे।

 


जालंधर स्टेशन पर स्पेशल ट्रेन के पायलट से विवाद पर उतरे कर्मचारी।
 

dispute for the demand a driver not having from Jalandhar on special train
 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *