Tractor Rally  में हुई violence में 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की हुई पहचान, कई बड़े नाम शामिल, ऐक्शन की तैयारी में सरकार…



 

Tractor Rally  में हुई violence में 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की हुई पहचान, कई बड़े नाम शामिल, ऐक्शन की तैयारी में सरकार…

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के मामले में 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की पहचान की है। सू्त्रों के अनुसार साइबर सेल ने 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की पहचान की जिन्होंने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कल की घटना में अहम भूमिका निभाई।

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के मामले में 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की पहचान की है। सू्त्रों के अनुसार साइबर सेल ने 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की पहचान की जिन्होंने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कल की घटना में अहम भूमिका निभाई। सू्त्रों के बताया कि इनमें कई बड़े नाम भी शामिल हैं। बता दें कि गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में जगह-जगह पर हुई किसान हिंसा में पुलिस के 300 से ज्यादा जवान और ऑफिसर घायल हुए हैं।

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए बड़े किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस एफआईआर में राकेश टिकैत, डॉ.दर्शनपाल और योगेंद्र यादव के नाम शामिल हैं। इसके साथ ही एफआईआर में किसान नेता राजिंदर सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह बुर्जगिल और जोगिन्दर सिंह उग्राहा का नाम भी शामिल है।

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने राजधानी के विभिन्न स्थानों पर दंगा करने वाले 200 लोगों को हिरासत में ले लिया है। इसके अलावा पुलिस ने 22 एफआईआर भी दर्ज की हैं। कल हुए दंगों में बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को चोटें आईं।

ताजा रिपोर्ट के अनुसार दंगों में 300 पुलिस जवान घायल हुए हैं। इस बीच दिल्ली में आज सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। लाल किला को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। आईटीओ में बस और बैरिकेड लगाकर रास्ता ब्लॉक किया गया है। वहीं सिंघु बॉर्डर पर भी कड़ा पहरा है।इस बीच हिंसा में पुलिस को हुए नुकसान की समीक्षा के लिए पुलिस कमिश्नर अपने वरीय अधिकारियों के साथ मीटिंग की। मंगलवार को मूलतः पंजाब और हरियाणा से जुड़े किसानों ने ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली के कई इलाकों में जमकर बवाल काटा। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस वालों पर लाठी-डंडों और पत्थरों स प्रहार किए।

Leave a Reply