MBD WEB NEWS

समराला में शरारती तत्वों ने सड़कों किनारे लिखे ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

समराला में शरारती तत्वों ने सड़कों किनारे लिखे ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

In Samrala, mischievous elements wrote slogans of ‘Khalistan Zindabad’ on the roadside

समराला में शरारती तत्वों ने सड़कों किनारे लिखे ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

 

 

समरालाः विदेशों में बैठे खालिस्तानी समर्थकों ने किसान आंदोलन की आड़ में युवाओं को फिर से भड़काने की साजिश तेज कर दी है। दरअसल, बीती रात कुछ शरारती तत्वों की तरफ से समराला इलाके की मुख्य सड़कों के किनारे ‘किसान हल खालिस्तान’ और ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लिखे गए। यह बात स्पष्ट इशारा कर रही है कि विदेशों में बैठे खालिस्तानी समर्थकों ने पंजाब में अपना नेटवर्क फिर सक्रिय करने की गतिविधियों को चालू कर दिया है। ऐसे देश विरोधी तत्व किसान आंदोलन की आढ़ में अपने फायदे के लिए किसानों खासकर नौजवानों को गुमराह करने की बार-बार कोशिशें कर रहे हैं।

समराला में ऐसे भड़काऊ नारे कुछ देर पहले भी लिखे गए थे परन्तु उस समय पुलिस ने तुरंत हरकत में आते हुए इनको हटा दिया था। उधर दिल्ली की सरहटों पर पिछले 7 महीनों से शांतमयी तरीकों के साथ आंदोलन कर रही किसान जत्थेबंदियों ने किसान आंदोलन को खालिस्तान को जोड़े जाने की शरारत को आंदोलन को चोट मारने वाली कार्रवाई बताया है। इस पर किसान जत्थेबंदियों का कहना है कि आंदोलनकारी किसानों का ऐसी हरकतों से कोई संबंध नहीं है। दिल्ली के लाल किले पर 26 जनवरी को हुई हिंसा उसी साजिश का हिस्सा थी, लेकिन किसान संगठनों ने उस वक्त साफ कर दिया था कि किसान आंदोलन का खालिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है।

Leave a Comment